विद्याभारती e पाठशाला

Lesson 6 पर्यावरण

Lesson 6 पर्यावरण
प्राकृतिक संसाधन
प्राकृतिक संसाधन वो प्राकृतिक पदार्थ हैं जो अपने अपक्षक्रित (?) मूल प्राकृतिक रूप में मूल्यवान माने जाते हैं। एक प्राकृतिक संसाधन का मूल्य इस बात पर निर्भर करता है की कितना पदार्थ उपलब्ध है और उसकी माँग (demand) कितनी है। प्राकृतिक संसाधन दो तरह के होते हैं-
1- नवीकरणीय संसाधन
2- अनवीकरणीय संसाधन
प्राकृतिक संसाधन वह प्राकृतिक पूँजी (natural capital) है जो निवेश की वस्तु में बदल कर बुनियादी पूंजी (infrastructural capital) प्रक्रियाओं में लगाई जाती है। इनमें शामिल हैं मिट्टी, लकड़ी, तेल, खनिज और अन्य पदार्थ जो कम या ज़्यादा धरती से ही लिए जाते हैं। बुनियादी संसाधन के दोनों निष्कर्षण शोधन(refining) करके ज़्यादा शुद्ध रूप में बदले जाते हैं जिन्हें सीधे तौर पर इस्तेमाल किया जा सके, (जैसे धातुएँ, रिफाईंड तेल) इन्हें आम तौर पर प्राकृतिक संसाधन गतिविधियाँ माना जाता है, हालांकि ज़रूरी नहीं की बाद में हासिल पदार्थ, पहले वाले जैसा ही लगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *