विद्याभारती e पाठशाला

Lesson – 11 खगोल विज्ञान

Lesson – 11 खगोल विज्ञान
०१- ब्रह्माण्ड ( अंतरिक्ष )
खगोल शास्त्र, एक ऐसा शास्त्र है जिसके अंतर्गत पृथ्वी और उसके वायुमण्डल के बाहर होने वाली घटनाओं का अवलोकन, विश्लेषण तथा उसकी व्याख्या (explanation) की जाती है। यह वह अनुशासन है जो आकाश में अवलोकित की जा सकने वाली तथा उनका समावेश करने वाली क्रियाओं के आरंभ, बदलाव और भौतिक तथा रासायनिक गुणों का अध्ययन करता है।
बीसवीं शताब्दी के दौरान, व्यावसायिक खगोल शास्त्र को अवलोकिक खगोल शास्त्र तथा काल्पनिक खगोल तथा भौतिक शास्त्र में बाँटने की कोशिश की गई है। बहुत कम ऐसे खगोल शास्त्री है जो दोनो करते है क्योंकि दोनो क्षेत्रों में अलग अलग प्रवीणताओं की आवश्यकता होती है, पर ज़्यादातर व्यावसायिक खगोलशास्त्री अपने आप को दोनो में से एक पक्ष में पाते है।

2- जाने ऐसा क्यों – जानें क्‍यों चमकती हैं आकाश में बिजली
3- विज्ञान प्रयोग -अंतरिक्ष दर्शन करो (SPACEWATCH MODEL)

Lesson – 11 खगोल विज्ञान pdf 
जाने ऐसा क्यों pdf 
विज्ञान प्रयोग pdf 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *